72 years old Man going to School for English literature Degree

इंग्लिश लिटरेचर में डिग्री के लिए 72 साल के मुकुंद बस्ता टांगकर पहुंचे स्कूल

नई दिल्ली. हमारे देश में एक कहावत खूब मशहूर है और वो ये है कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती और सपनों को पूरा करने के लिए भी वक्त नहीं देखा जाता. जी हां, ऐसा ही एक वाकया सामने आया है. बता दें कि 72 साल के मुकुंद चारी कभी अंग्रेजी की वजह से अपना ग्रैजुएशन नहीं पूरा कर पाए थे. आज वह उसी इंग्लिश लिटरेचर में डिग्री के लिए दोबारा स्कूल की ओर रुख किया है.

दरअसल, मुकुंद ने दोबारा स्कूल जाने का फैसला लिया है ताकि वह अपने इंग्लिश लिटरेचर में डिग्री हासिल करने का सपना सच कर सकें. मुंबई के सेंट जेवियर्स नाइट स्कूल में मुकुंद आठवीं से पढ़ाई शुरू कर रहे हैं. मुंबई की ग्रांट रोड निवासी मुकुंद सिक्यॉरिटी गार्ड के रूप में रिटायर हो चुके हैं. उन्होंने 1950 के दशक में मराठी मीडियम स्कूल से पढ़ाई की. टूटी-फूटी अंग्रेजी में मुकुंद बताते हैं, ’11वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद मैं दक्षिणी मुंबई के एक कॉलेज में ऐडमिशन के लिए गया. मैं लिटरेचर पढ़ना चाहता था लेकिन मुझे बताया गया कि वहां शिक्षा इंग्लिश में दी जाएगी. मैं इंग्लिश में पढ़ने के लिए कॉन्फिडेंट नहीं था क्योंकि मेरी स्कूलिंग मराठी में हुई थी.

मैं वापस घर आया और उदास होकर उस चैप्टर को वहीं बंद कर दिया.’ अब वह अपने नए स्कूल में भाषा में पकड़ बनाने की कोशिश कर रहे हैं. इंग्लिश सीखने के लिए मुकुंद फिर से 8वीं में दाखिला लेने वाले थे लेकिन उसी दौरान उनके माता-पिता की मौत हो गई जिस वजह से उन्हें परिवार का खर्चा चलाने के लिए नौकरी करनी पड़ी. वह कहते हैं, ‘लेकिन एक चीज हमेशा मेरे दिमाग में बनी रही वह थी अंग्रेजी साहित्य में मास्टर डिग्री. via Dailyhunt

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *